Tag: Raat Hindi Poetry

Raat Shayari Hindi Mein – रात बाकी थी जब वो


रात बाकी थी जब वो बिछड़े थे
कट गयी उम्र रात बाकी है।

Raat Shayari Hindi Mein – न दिन से रिश्ता है

न दिन से रिश्ता है, न रात से रिश्ता है,
हर शख्स का इस दुनिया में, हालात से रिश्ता है।


Raat Shayari Hindi Mein – जिसके हिस्से में रात आई

जिसके हिस्से में रात आई है
यक़ीनन उसके हिस्से में चाँद भी होगा


Raat Shayari Hindi Mein – बैचेन इस कदर थी….

बैचेन इस कदर थी….
सोई न रात-भर….

पलकों से लिख रही थी….
तेरा नाम चाँद पर..!!!


Raat Shayari Hindi Mein – सोई आँखों में-हलचल करते रहते

सोई आँखों में-हलचल करते रहते हैं…
सारी रात ….तुम्हारे ज़िद्दी ख़याल !!