Dard Thoda Raha Par Humne Dikhaya Badkar – Daur Numaish Hindi Shayari By Hari Om


दर्द थोड़ा रहा पर हमने दिखाया बढ़कर
हमको मालूम है ये दौर नुमाइश का है

– हरि ओम

Hasrat Shayari Hindi Mein – माना के अनमोल हो हसरत-ऐ-नायब

माना के अनमोल हो हसरत-ऐ-नायब हो तुम …!!
हम भी वो लोग हैं जो हर दहलीज़ पर नहीं मिलते …!!


Muskurana Shayari Hindi Mein – रूठे हुये को मनाना ज़िंदगी

रूठे हुये को मनाना ज़िंदगी है;
दूसरों को हँसाना ज़िंदगी है ;
कोई जीतकर खुश हुआ तो क्या हुआ;
सब कुछ हार कर मुस्कुराना भी ज़िंदगी है

Chahat Shayari Hindi Mein – जरूरी नहीं की हर बात

जरूरी नहीं की हर बात पर तुम मेरा कहा मानों,
दहलीज पर रख दी है चाहत, आगे तुम जानो..!!


Minnat Shayari Hindi Mein – मुझमें कितने राज़ हैं बतलाऊं

मुझमें कितने राज़ हैं बतलाऊं क्या ?
बंद एक मुद्दत से हूं खुल जाऊं क्या?
आजिज़ी,मिन्नत,खुशामद,इल्तिज़ा,
और मैं क्या-क्या करूं मर जाऊं क्या?


Mother Shayari Hindi Mein – घर के चूल्हे को भरम

घर के चूल्हे को भरम है कि वो पालता है हमें,
प्यार तो माँ की हथेली से चुराती हैं.. रोटियाँ