Tag: Bhool Poetry In Hindi

Bhool Shayari Hindi Mein – बडे अंधेरे हैं तेरी आँखों

बडे अंधेरे हैं तेरी आँखों के मयखाने में
डर है जो भटका तो घर भूल ना जाऊँ।।


Bhool Shayari Hindi Mein – मैं ही जब ख़ुद को

मैं ही जब ख़ुद को भूल बैठा हूँ
कौन रक्खेगा अब ख़याल मेरा


Bhool Shayari Hindi Mein – आज किसी की दुआ की

आज किसी की दुआ की कमी है,
तभी तो हमारी आँखों में नमी है,
कोई तो है जो भूल गया हमें,
पर हमारे दिल में उसकी जगह वही है…