Zulf Shayari Hindi Mein – वो ज़ुल्फ़ धूप में फ़ुर्क़त

वो ज़ुल्फ़ धूप में फ़ुर्क़त की आई है जब याद
तो बादल आए हैं और शामियाने हो गए हैं

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *