Zulf Shayari Hindi Mein – मुझ को हालात में उलझा

मुझ को हालात में उलझा हुआ रहने दे यूँही
मैं तिरी ज़ुल्फ़ नहीं हूँ जो सँवर जाऊँगा