Zulf Shayari Hindi Mein – जिस्म ढका है ज़ुल्फ़

जिस्म ढका है, ज़ुल्फ़ बँधी है, रुखसारों तक पर्दा है
लेकिन जान का दुश्मन तो ये काजल भी हो सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *