Zakhm Shayari Hindi Mein – इल्ज़ाम तो हर हाल में

इल्ज़ाम तो हर हाल में काँटों पे लगेगा..
ये सोचकर कुछ फूल भी चुपचाप ज़ख्म दे जातें हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *