Vakt Shayari Hindi Mein – वक़्त के पंजे से बचकर

वक़्त के पंजे से बचकर कोई कहां गया है,
मिट्टी से पूछिये सिकंदर कहां है..

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *