Vakt Shayari Hindi Mein – वक़्त किसी का नहीं……

वक़्त किसी का नहीं……
बाजार में उन नोटों को भी बिकते देखा…
जो कभी खरीदने की ताकत रखते थे. . .

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *