Sad Sher O Shayari – अजब पहेलियां हैं हाथों की लकीरों में…

अजब पहेलियां हैं हाथों की लकीरों में…
सफर ही सफर लिखा है हमसफर कोई नहीं…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *