Ruthna Shayari Hindi Mein – रूठना और मानना जो न

रूठना और मानना जो न जान पाया
वो इश्क़ की ख़ूबसूरती कब पहचान पाया

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *