Najar Shayari Hindi Mein – चुपचाप चल रहे थेज़िन्दगी के

चुपचाप चल रहे थे,ज़िन्दगी के सफ़र में
तुम पर नज़र पड़ी तो, गुमराह हो गये …!!!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *