Minnat Shayari Hindi Mein – आँख उठा कर जो रवादार

आँख उठा कर जो रवादार न था देखने का
वही दिल करता है अब मिन्नत ओ ज़ारी उस की