Manzil Shayari Hindi Mein – ये न मंज़िल में मिली

ये न मंज़िल में मिली और न राहों में मिली…
ज़िंदगी जब भी मिली तेरी ही बाहों में मिली..

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *