Manzil Shayari Hindi Mein – चलता रहूँगा पथ पर चलने

चलता रहूँगा पथ पर, चलने मे माहिर बन जाऊँगा…
या तो मंज़िल मिल जाएगी, या अच्छा मुसाफ़िर बन जाऊँगा