Khafa Shayari Hindi Mein – किस को नाराज़ करू

किस को नाराज़ करू,
किस से खफा हो जाऊ…
अक्स है दोनों मेरे,
किस से जुदा हो जाऊ…|

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *