Intezaar Shayari Hindi Mein – मैं जिसके वास्ते आँखें चिराग़

मैं जिसके वास्ते आँखें चिराग़ करता हूँ
कभी कभी तो उसे मेरा इंतज़ार भी हो।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *