Inkaar Shayari Hindi Mein – डर था कि इंकार ना

डर था कि इंकार ना कर दो, इसलिए मैं चुप था
अब जब तुमने बात छेड़ दी तो इकरार भी कर दो

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *