Hindi Shayari – बेशक़ फासले है

बेशक़ फासले है दरमियां हमारे
फिर भी सामने होती हो हमारे
यू ही रहना सुकूँ मिलता है मुझे

आमने_सामने होने का मौका

मिलता है मुझे ।।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *