Hindi Shayari – तुम और तुम्हारी चाहत

तुम और तुम्हारी चाहत, मिले ना मिले
ये तो किस्मत की बात है,
पर बड़ा सुकून सा मिलता है
ख्वाबों ख्यालों में तुम्हें अपना मानकर.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *