Hindi Font Sad Sher O Shayari – लम्हों की दौलत से दोनों महरूम रहे

लम्हों की दौलत से दोनों महरूम रहे ,
मुझे चुराना न आया, तुम्हें कमाना न आया

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *