Heart Broken Urdu Shayari – मुझसा कोई जहाँ में नादान भी न हो

मुझसा कोई जहाँ में नादान भी न हो ,
कर के जो इश्क कहता है नुकसान भी न हो …!!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *