Dua Shayari Hindi Mein – जब भी कश्ती मेरी सैलाब

जब भी कश्ती मेरी सैलाब में आ जाती है
माँ दुआ करती हुई ख़्वाब में आ जाती है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *