Dard Bhari Shayari – जो भी आता है एक नयी चोट दे के

जो भी आता है एक नयी चोट दे के चला जाता है ए दोस्त,….
मै मज़बूत बहोत हु लेकिन कोई पत्थर तो नहीं,….

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *