Category: Zindagi Shayari

Zindagi Shayari Hindi Mein – अज़ीब सी कश्मकश मे उलझ

अज़ीब सी कश्मकश मे उलझ कर रह गयी है
आजकल ज़िन्दगी हमारी,
उन्हें याद करना नही चाहते
और भूलना तो जैसे नामुमकिन सा है।


Zindagi Shayari Hindi Mein – काश यह जालिम जुदाई न


काश यह जालिम जुदाई न होती!
ऐ खुदा तूने यह चीज़ बनायीं न होती!
न हम उनसे मिलते न प्यार होता!
ज़िन्दगी जो अपनी थी वो परायी न होती!

Zindagi Shayari Hindi Mein – दो रोज़ तुम मेरे पास

दो रोज़ तुम मेरे पास रहो दो रोज़ मैं तुम्हारे पास रहुं….
चार दिन की ज़िन्दगी है, ना तुम उदास रहो ना मैं उदास रहुं…