Category: Vakt Shayari

Vakt Shayari Hindi Mein – सफर तो लम्बा था

सफर तो लम्बा था
पर साथ अधूरा
मंज़िल की चाहत तो
उसी वक़्त खत्म हो गयी
जब मुझसे तू बिछड़ा..


Vakt Shayari Hindi Mein – वक़्त के पंजे से बचकर


वक़्त के पंजे से बचकर कोई कहां गया है,
मिट्टी से पूछिये सिकंदर कहां है..

Vakt Shayari Hindi Mein – बुरा हो वक़्त तो सब

बुरा हो वक़्त तो सब आजमाने लगते है
बड़ो को छोटे भी आंखे दिखाने लगते है
नए अमीरों के घर भूल कर भी मत जाना
हर एक चीज की कीमत बताने लगते है