Bhool Shayari Hindi Mein – मैं ही जब ख़ुद को

मैं ही जब ख़ुद को भूल बैठा हूँ
कौन रक्खेगा अब ख़याल मेरा