Bhool Shayari Hindi Mein – अब और क्या किसिसे मरासीम

अब और क्या किसिसे मरासीम बढ़ाए हम
ये भी बहुत है तूजको अगर भूल पाए हम