Barsaat Shayari Hindi Mein – बरसात में तालाब तो हो

बरसात में तालाब तो हो जाते हैं कमज़र्फ
बाहर कभी आपे से समन्दर नहीं होता

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *