Barsaat Shayari Hindi Mein – धूप में कौन किसे याद

धूप में कौन किसे याद किया करता है
पर तिरे शहर में बरसात तो होती होगी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *