Ashq Shayari Hindi Mein – उसे रोकता भी तो किस

उसे रोकता भी तो किस तरह..?
के वो शख़्स इतना अजीब था
कभी तड़प उठा मेरी आह से….
कभी अश्क़ से न पिघल सका…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *