Aarzu Shayari Hindi Mein – माना कि तेरे गौर के

माना कि तेरे गौर के काबिल नहीं मैं
आरज़ू फिर भी है कि कभी मुझसे भी तो बात कर

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *