Month: April 2017

Vakt Shayari Hindi Mein – बुरा हो वक़्त तो सब

बुरा हो वक़्त तो सब आजमाने लगते है
बड़ो को छोटे भी आंखे दिखाने लगते है
नए अमीरों के घर भूल कर भी मत जाना
हर एक चीज की कीमत बताने लगते है

Raat Shayari Hindi Mein – शुरू होने को हैं ख़्वाबो

शुरू होने को हैं ख़्वाबो के सिलसिले,
फिर एक रात ने दस्तक दी है



Raat Shayari Hindi Mein – बैचेन इस कदर थी….

बैचेन इस कदर थी….
सोई न रात-भर….

पलकों से लिख रही थी….
तेरा नाम चाँद पर..!!!