Month: November 2016

Good Night Shayari – ऐ पलक तू बंद हो जा

ऐ पलक तू बंद हो जा;
ख्बाबों में उसकी सूरत तो नजर आयेगी;
इंतज़ार तो सुबह दोबारा शुरू होगा;
कम से कम रात तो खुशी से कट जायेगी!

Good Night Shayari – सो जा ऐ दिल कि अब

सो जा ऐ दिल कि अब धुन्ध बहुत है तेरे शहर में,
अपने दिखते नहीं और जो दिखते है वो अपने नहीं…।